Tuesday, September 26, 2023

अमेरिका में गर्भपात पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी, ऑस्ट्रेलिया पर भी पड़ सकता है असर

एडीलेड। अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट के लीक हुए एक विचार मसौदे से खुलासा हुआ है कि सुप्रीम कोर्ट 1973 के रो बनाम वेड मामले में दिए गए ऐतिहासिक आदेश पर विराम लगाने की तैयारी कर रहा है, जिसमें गर्भपात को संवैधानिक अधिकार बताया गया था। इस आदेश के खत्म होने के बाद अमेरिका में प्रजनन अधिकारों पर प्रभाव पड़ना तय है।

इसके साथ ही दुनियाभर में इसके सांकेतिक प्रभाव भी देखने को मिल सकते हैं। इसके अलावा ऐसे किसी फैसले से राष्ट्रीय गर्भपात विरोधी आंदोलन को भी नई दिशा मिल सकती है। अमेरिका में गर्भपात एक नियमित और सुरक्षित स्वास्थ्य देखभाल प्रक्रिया है, जिसका उपयोग हर चार में से एक महिला करती है। साल 2021 में किए गए एक सर्वेक्षण में 80 प्रतिशत अमेरिकियों ने सभी या ज्यादातर मामलों में गर्भपात का समर्थन किया था। इसके अलावा 60 प्रतिशत लोगों ने रो बनाम वेड मामले में दिए गए फैसले की हिमायत की थी। यदि रो बनाम वेड मामले में दिए गए आदेश को खत्म कर दिया जाता है, तो अमेरिका के राज्यों को फिर से गर्भपात को लेकर नियम-कायदे लागू करने होंगे।
उम्मीद की जा रही है कि अमेरिका के आधे राज्य गर्भपात पर तत्काल प्रतिबंध लगा देंगे। 16 राज्य और डिस्ट्रिक्ट ऑफ कोलंबिया में गर्भपात अधिकारों के संरक्षण के लिए कानून हैं। गर्भपात के आलोचकों का मानना है कि इससे किसी चीज का अंत नहीं बल्कि शुरुआत होगी। रिपब्लिकन पार्टी के सांसद गर्भपात पर प्रतिबंध लगाने का कानून बनाने को लेकर रणनीति बना रहे हैं, जिसमें देशभर में छह हफ्ते के बाद गर्भपात कराने पर पाबंदी होगी।
अमेरिका में गर्भपात पर प्रतिबंध लगाने का असर ऑस्ट्रेलिया में भी देखा जा सकता है, जिसे कभी-कभी अमेरिका का 51वां राज्य भी कहा जाता है।

Ads code goes here

गर्भपात के मामले में हमारे यहां की राजनीति और कानून बिल्कुल अलग हैं। ऑस्ट्रेलियाई जनता किसी की पसंद की समर्थक मानी जाती है और दशकों से इसका यही मिजाज रहा है।
ऑस्ट्रेलिया में गर्भपात को लेकर राज्य और क्षेत्रीय कानून हैं और 21वीं सदी में आम राय गर्भपात को कानूनी अधिकार के रूप में स्थापित करने की रही है। सन 2021 में दक्षिण ऑस्ट्रेलिया गर्भपात को अपराध मुक्त बनाने वाला अंतिम क्षेत्र बन गया था। ऐसे में मोटे तौर पर देखा जाए तो गर्भपात को लेकर अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया दोनों देश विपरीत दिशा में बढ़ते दिख रहे हैं।

एक ओर जहां अमेरिका में गर्भपात पर पाबंदी लगाने की तैयारी चल रही है, तो दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया इसे लेकर उदार रवैया अपना रहा है। ऐसे में आने वाले समय में इस बात पर सबकी नजर रहेगी कि अमेरिका में होने वाले बदलावों का ऑस्ट्रेलिया में क्या असर होगा।

Latest news
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
Related news

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें