चित्रकूट में 50 लाख की फिरौती न मिलने पर व्यापारी पुत्र की अपहरण के बाद हत्या

चित्रकूट। रैपुरा कस्बे की काॅलोनी में रहने वाले व्यापारी के बेटे की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। अपहरणकर्ताओं ने बेटे को छोड़ने की एवज में 50 लाख रुपये मांगे थे। पैसे न मिलने पर अपहरणकर्ताओं ने व्यापारी पुत्र की हत्या कर दी। पुलिस ने अपहृत बच्चे की लाश को बरामद कर लिया।

रैपुरा थाना क्षेत्र के कस्बा कॉलोनी में रहने वाले राजधर कोटार्य कानपुर से गुटखा लाकर यहां बेचते हैं। व्यापारी ने बताया कि उनका 16 वर्षीय बेटा सुधांशु गांव के ही एक स्कूल में कक्षा नौ में पढ़ता था। वह 10 फरवरी से गायब है। सोमवार की सुबह उनके पास अंजान नम्बर से फोन आया कि अगर अपने बेटे की सलामती चाहते हैं तो पचास लाख रुपये का इंतजाम कर लें। उन लोगों ने सुधांशु को अगवा किया हुआ है। पहले तो उसे विश्वास नहीं हुआ पर अपहरकर्ताओं ने जब बेटे से बात कराई तो वह विश्वास कर पाया। दोपहर में फिर फोन कर आधे घंटे में पैसा बेड़ी पुलिया के पास पहुंचाने को कहा। बेटे के अपहरण की जानकारी व्यापारी ने अपनी पत्नी मंजू को दी। इसके बाद पत्नी ने थाना में बेटे के अपहरण की सूचना दी।

आनन-फानन पुलिस हरकत में आयी और नम्बर को ट्रेस कर सोमवार की देर शाम पुलिस ने कर्वी कोतवाली क्षेत्र स्थित देवांगना घाटी के गढ़ीवा से सटे जंगल में सुंधाशु का शव को बरामद कर लिया। मौके पर एसपी अरुण सिंह, एएसपी चक्रपाणि त्रिपाठी, सीओ राजापुर निष्ठा उपाध्याय, सीओ सिटी हर्ष पांडेय पहुंचे। एसपी ने बताया कि कई संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। मामले को काफी हद तक ट्रेस कर लिया गया है।

Share and Enjoy !

Shares