प्रधानों ने फर्जी दर्ज कराए गए मुकदमे में इंसाफ की मांग की

बाराबंकी।ग्राम प्रधान संघ ने बैठक पर प्रधानों के उत्पीड़न पर रोष जताते बीडीओ को मांग पत्र सौंपा है।इसी के साथ कोतवाल से मिलकर फर्जी दर्ज कराए गए मुकदमें में इंसाफ की मांग की । 6 फ़रवरी को एक प्रतिनिधि मंडल जिलाधिकारी से भी मिलेगा।

प्रधान संघ जिलाध्यक्ष राम कुमार मिश्रा के साथ प्रधान सभाजीत, चंद्रमौलि, ब्रजेश शर्मा,संजय कुमार,वीरेंद्र कुमार,राजेश अवस्थी,दीपू अवस्थी,हारून,विमलेश कुमार आदि दर्जनों प्रधानों ने ब्लॉक सभागार में बैठक की तथा कहा कि फर्जी शिकायत पर सिलौटा के प्रधान पति पर आवास में पैसा मांगने का मुकदमा लिखाया गया है जो गलत है।जिसने आरोप लगाया है, उसका प्रधान के देवर की दुकान का मौरंग,सीमेंट का पैसा बाकी था, वही प्रधान पति मांग रहे थे।रंजिश में फर्जी आरोप लगाया गया और बिना जांच किए मुकदमा लिखा गया ।

यदि इसी तरह फर्जी आरोप पर मुकदमा लिखे गए तो प्रधान काम नहीं कर सकेंगे। बैठक में कहा गया कि सिलौटा मामले की निष्पक्ष जांच हो।आवास का पैसा लाभार्थी के खाते में आया था। उसी ने निकाल कर बनाया।इसमें प्रधान पति का कोई रोल नही है । प्रधानों ने यह भी कहा कि अशोकपुर चाचू सराय में लाभार्थी खुद ग्राम समाज की जमीन पर आवास बनाए हुए है जबकि सचिव पर मुकदमा लिखाया गया।गलत मुकदमों में प्रशासन के उच्च अफसरों की कार्यशैली निष्पक्ष नहीं है।सभी प्रधानों ने बीडीओ को एक लिखित पत्र सौंप कर निर्दोषों का उत्पीड़न बंद कराने की मांग की।इसी के साथ कोतवाली जाकर कोतवाल से भी निष्पक्ष जांच करने को कहा। प्रधानों का प्रतिनिधि मंडल 6 फ़रवरी को डीएम से मिलकर अपनी बात कहेगा। यदि उनकी बात पर गौर नहीं किया गया तो सभी प्रधान कार्य नहीं करेंगे।

कोतवाल रत्नेश पांडेय ने के कहा कि हमारे यहां जो भी मुकदमे लिखे गए हैं । ऊपर से मिले आदेश पर लिखे गए हैं।प्रधान संघ मिलने आया था।हम तो अपने अधिकारियों के आदेश का पालन करते हैं।किसी के खिलाफ अन्याय नहीं होगा।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *