इंस्पेक्टर व पुलिसकर्मियों पर युवक को टॉर्चर करने का केस दर्ज

– आत्महत्या के पूर्व युवक ने वीडियो बनाकर पुलिस यातना की बताई थी पूरी कहानी

फतेहपुर। जिले में एक युवक ने पुलिस प्रताड़ना के बाद आत्महत्या करली थी। युवक ने आत्महत्या करने से पूर्व पुलिस प्रताड़ना की दर्दभरी कहानी का वीडियो बनाया था जो युवक की मौत के बाद सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। जिसके बाद शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर इंस्पेक्टर व पुलिसकर्मियों पर मुकदमा दर्ज कर विभागीय जांच की जा रही है।

विगत 16 नवंबर को थरियांव थाना क्षेत्र के सेमरा गांव में रामरतन नामक एक शख्स की हत्या हुई थी। हत्या के आरोप में पुलिस ने हुसैनगंज थाना क्षेत्र के मानपुर गांव निवासी अनोखे लाल के 20 वर्षीय पुत्र रामरूप लोधी पर जबरन जुर्म कबूल करने का दबाव बनाते हुए उसे थर्ड डिग्री देकर टॉर्चर किया था। बाद में आहत युवक ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया था। इस मामले में मृतक के परिजनों के साथ ग्रामीणों ने पुलिस अधीक्षक से मिलकर दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई किए जाने की मांग की थी। इस पर पुलिस अधीक्षक ने तत्काल प्रभाव से थानाध्यक्ष को लाइन हाजिर कर मामले में जांच बैठा दी थी। पुलिस अधीक्षक उदय शंकर सिंह के आदेश पर पुलिसकर्मियों पर आत्महत्या के लिए उकसाने की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है।

मृतक के पिता अनोखे लाल ने पुलिस को दिए गए शिकायती पत्र में बताया कि थरियांव थाना क्षेत्र के सेमरा गांव में 16 नवम्बर को रामरतन रैदास की हत्या कर दी गई थी। हत्याकांड की पुलिस छानबीन कर रही थी। इस दौरान अनोखे लाल का 20 वर्षीय बेटा रामरूप लोधी शहर में था। 2 जनवरी को वापस गांव आया था। थरियांव पुलिस 27 जनवरी को रामरूप को थाने उठा ले गई। पूछताछ के दौरान पुलिस ने युवक पर जबरन जुर्म कबूल करने का दबाव बनाया।

थाना प्रभारी थरियांव रणजीत बहादुर सिंह ने बताया कि मृतक के पिता की तहरीर पर तत्कालीन इंस्पेक्टर और हसवा चौकी पुलिसकर्मी के खिलाफ आईपीसी की धारा 306 के तहत मुकदमा दर्ज कर मामले की विवेचना की जा रही है। जो भी तथ्य सामने आएंगे,उसी आधार पर अग्रिम कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Share and Enjoy !

Shares