उपलब्धि:डॉ. अनुवेदिता सिंह बनीं असिस्टेंट प्रोफेसर, परिजनों में खुशी का माहौल

मऊ। अगर किसी में कुछ कर गुजरने का हौसला हो तो हर कोई मुकाम हासिल किया जा सकता है चाहे वह शिक्षा हो चाहे खेल हो चाहे कोई अन्य क्षेत्र। ऐसा ही कर दिखाया है ग्रामीण परिवेश में जन्मी डॉ. अनुवेदिता सिंह ने जो ग्रामीण परिवेश से निकलकर असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर अपनी सेवाएं देंगी। रतनपुरा ब्लाक क्षेत्र के साहूपुर हलधरपुर निवासी डॉ. अनुवेदिता सिंह का अटल बिहारी वाजपेयी भारतीय सूचना प्रोद्योगिकी एवं प्रबंधन संस्थान ग्वालियर मध्यप्रदेश में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर चयन हुआ है। इनकी कामयाबी पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है।

डॉ. अनुवेदिता सिंह शुरुआती समय से ही मेधावी छात्रा रही हैं। नगर स्थित सोनीधापा बालिका इंटर कालेज से इंटरमीडिएट तक प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण किया। वर्ष 2013 में इविंग क्रिश्चियन कालेज प्रयागराज से बीएससी किया। इलाहाबाद विश्वविद्यालय से एमएससी किया। बीएचयू वाराणसी से मैथ से पीएचडी किया। वर्ष 2015 में नेट तथा जेआरएफ क्वालीफाई किया। इस वर्ष असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर चयनित होकर जिले को गौरवांवित किया है। पिता शिवकुमार सिंह स्वास्थ्य विभाग में तैनात हैं। डॉ. अनुवेदिता सिंह की कामयाबी पर बधाई देने वालों में नीरज सिंह, गणेश सिंह, बृजेश गुप्ता, ओमप्रकाश पांडेय आदि शामिल रहे।

Share and Enjoy !

Shares