उप्र बजट सत्र : विधायकों के निधन पर शोक प्रस्ताव, विधान सभा 5 फरवरी तक स्थगित

-पांच फरवरी को सुबह योगी कैबिनेट की बैठक के बाद पूर्वाह्न 11 बजे विधान सभा में पेश होगा बजट

लखनऊ। उप्र विधान मण्डल का बजट सत्र के दूसरे दिन शनिवार को विधान सभा में दो विधायक और छह पूर्व विधायकों के निधन पर नेता सदन व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शोक प्रस्ताव रखा। मुख्यमंत्री समेत सभी दलीय नेताओं और विधान सभा अध्यक्ष सतीश महाना ने शोक संवेदनाएं व्यक्त कीं। अंत में पूरे सदन ने मौन रखकर अपनी संवेदनाएं शोकाकुल परिवार के प्रति व्यक्त की। इसके साथ ही सदन की कार्यवाही सोमवार की सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गयी।

शोक प्रस्ताव रखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारे बीच के वरिष्ठ सदस्य मानवेन्द्र सिंह दो बार विधानसभा सदस्य के रूप में चुने गए। 2017 में पहली बार विधान सभा पहुंचे। 2022 में भी वह चुनकर आए। वह छात्र जीवन से ही राजनीति में सक्रिय रहे। नेता सदन ने कहा कि वह विधान सभा की विभिन्न कमेटियों में भी रहे हैं। वह जिला पंचायत अध्यक्ष शाहजहांपुर भी रहे। प्रदेश और हमारी पार्टी की अपूरणीय क्षति हुई है। उनकी कमी सदैव बनी रहेगी। उनके परिवार के प्रति अपनी एवं सदन की ओर से शोक संवेदना व्यक्त करते हैं। पीठ से आग्रह है कि उनकी संवेदनाएं शाेक संतप्त परिवार तक प्रेषित की जांए।

इसके बाद मुख्यमंत्री ने बलरामपुर के गैसड़ी से विधायक शिवप्रताप यादव (73) के निधन पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि वह शिक्षक के रूप में अपने जीवन का शुभारंभ किया। समाज सेवा के क्षेत्र में उन्होंने बढ़चढ़कर कार्य किया। शिक्षा के प्रति समाज में जागरूकता के लिए शिव प्रताप यादव ने पूरे जीवन कार्य किया। उनके जाने से हम सब ने एक अच्छा राजनीतिक और समाज सेवी खो दिया है।

नेता सदन ने पूर्व विधायकों आजमगढ़ के मोबीन अहमद आजमी, आगरा के सतीश चंद्र, बहराइच के जटाशंकर सिंह, लखनऊ के मो. इरशाद खां, सिटी मांटेसरी स्कूल लखनऊ के संस्थापक अलीगढ़ के जगदीश गांधी और मुजफ्फर नगर के डॉ. सुरेश संगल के निधन पर शोक संवेदनाए व्यक्त कीं।

नेता सदन के बाद मुख्य विपक्ष दल के नेता मनोज पांडेय ने भी शोक संवेदनाएं व्यक्त करते हुए अपूर्णीय क्षति बताया। साथ ही पीठ से शोकाकुल परिवार तक अपनी संवेदनाएं भेजने का आग्रह किया। इसके अलावा विधान सभा में कांग्रेस की नेता विधान मण्डल दल आराधाना मिश्रा मोना, सुभासपा के नेता ओम प्रकाश राजभर, जनसत्ता दल के नेता रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया समेत अन्य दलीय नेताओं ने नेता सदन के बयान से खुद को संबद्ध करते हुए शोक व्यक्त किया। अंत में विधान सभा अध्यक्ष सतीश महाना ने शोकसंवेदनाएं व्यक्त कीं और दो मिनट का मौन रखने के उपरांत सोमवार पांच फरवरी की सुबह 11 बजे तक के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गयी।

पांच फरवरी को योगी सरकार पेश करेगी बजट

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पांच फरवरी को बजट पेश करेगी। बजट पेश करने से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में सोमवार को लोकभवन में कैबिनेट की बैठक होगी। बैठक के उपरांत मुख्यमंत्री योगी, वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना विधान सभा पहुंचेंगे। सुबह 11 बजे सदन की कार्यवाही शुरू होने के साथ ही वित्त मंत्री वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए बजट प्रस्तुत करेंगे। योगी सरकार उप्र के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा बजट पेश करेगी।

Share and Enjoy !

Shares